Talks with Sri Anish

गुरु के शब्दों में अंतर्विरोध क्यूँ ?

हमें अक्सर ओशो के शब्दों में अंतर्विरोध महसूस होता है, ऐसा क्यों है? क्या गुरु हमें उलझाना चाहते हैं या फिर यह हमारी खुद की संकीर्ण बुद्धि के कारण होता है |

Stay connected with Sri Anish

Get weekly updates on the latest blogs & satsangs via newsletters right in your mailbox.

Get added to Saadho Whatsapp Updates Group


Drop us your number


Share message on below QR code

“Spirituality is about expanding life’s narrative”